विज्ञान एवं गणित शिक्षा विभाग

विज्ञान एवं गणित शिक्षा विभाग उच्च्तर प्राथमिक से उच्च माध्ययमिक स्तंर तक विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा में अनुसंधान, विकास, प्रशिक्षण, मूल्यां कन और विस्तारण कार्यकलाप संचालित करता है। यह उच्च, प्राथमिक, माध्य मिक और उच्चंतर माध्यिमिक स्तपरों पर विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा में अनुपूरक एवं पूरक शिक्षण-अधिगम सामग्री के विकास में शामिल है।

विज्ञान एवं गणित शिक्षा विभाग (डीईएसएम) का मुख्यज प्रकार्य विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा में विशेषत: उच्चर प्राथमिक, माध्यशमिक और उच्चडतर माध्यएमिक स्त‍रों पर अनुसंधान, विकास, प्रशिक्षण, मूल्या कंन और विस्ता रण कार्यकलापों को आयोजित करता है। विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा में पाठ्यविवरण, पाठ्यपुस्ताकों और अन्यस शैक्षिक अनुदेशीय सामग्री का विकास इस विभाग के कार्यों का एक महत्ववपूर्ण क्षेत्र रहा है। विभाग का अनुदेशीय सामग्री केन्द्रै (आईएमसी) विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा के सभी पहलुओं पर जानकारी एकत्र करने और वितरित करने का कार्य करता है। विभाग के अन्या मुख्यभ विस्तायरण कार्यकलापों में जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीकय विज्ञान गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी, राज्या स्तारीय विज्ञान प्रदर्शनियों को प्रोत्सा्हन, विज्ञान एवं गणित की प्रयोगशालाओं और विज्ञान उद्मान का अभिकल्पपन तथा विकास और तिमाही पत्रिका 'स्कूंल साईंस' का प्रकाशन शामिल हैं। राज्यों् और संघ राज्यन क्षेत्रों में विज्ञान और गणित शिक्षा के सुदृढ़ीकरण की दिशा में यह विभाग अध्या‍पकों तथा मास्टकर प्रशिक्षकों हेतु अभिमुखीकरण कार्यक्रमों का आयोजन करता है। विद्यालयों में विद्यार्थियों के मूल्यांाकन की गुणवत्तास को सुसाध्य् बनाने हेतु विभाग विज्ञान एवं गणित में अनुकरणीय प्रश्नों का भी विकास करता है। विभाग विज्ञान की लोकप्रियता हेतु अनुदेशीय सामग्री के विकास, विज्ञान और गणित में नवाचारी प्रयोगशाला परिपाटियों के प्रोत्सानहन तथा विद्यालय से बाहर के विज्ञान कार्यकलापों के आयोजन में भी शामिल रहा है। प्रत्येरक वर्ष, विभाग बच्चों के लिए जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीेय विज्ञान गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी (जेएनएनएसईसी) भी आयोजित करता है जो बच्चों के लिए जिला, मण्डकल और राज्यर स्तयर पर आयोजित विज्ञान प्रदर्शिनियों की श्रृंखला की पराकाष्ठात है।

विभाग की भूमिका व कार्य

विज्ञान एवं गणित शिक्षा विभाग (डीईएसएम) विद्यालय स्त र पर विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा में एक विचार-निधि है और इन क्षेत्रों में अनुसंधान, विकास, प्रशिक्षण, मूल्या कंन तथा विस्तागरण कार्यकलाप चलाने के लिए जिम्मेददार है। विभाग नई प्रणालियों और प्रौद्योगिकीयों को सम्मिलित करते हुए शिक्षण अधिगम कार्यनीतियों के साथ परीक्षण आयोजित करता है और विद्यालय समुदाय हेतु विज्ञान एवं गणित में अनुदेशीय सामग्री सहित अध्यासपकों तथा शिक्षक प्रशिक्षकों के लिए सामग्री का विकास करता है। डीईएसएम के संकाय वर्ग में भौ‍तिकी, रसायन, जैविकी, गणित और पर्यावरण शिक्षा के विशेषज्ञ सम्मिलित है।

विभाग, उच्चह प्राथमिक से उच्च‍तर माध्यषमिक स्तसर तक सभी विद्यालय स्तररों के लिए विज्ञान एवं गणित में पाठ्यचर्या विकास का कार्य करता है। पर्यावरण शिक्षा के तत्वोंच तथा विद्यालय शिक्षा के संगत अन्यर पहलु सम्पू्र्ण विद्यालय पाठ्यचर्या से परस्पर जुड़े हुए हैं।

विभाग के कार्य का एक अन्या क्षेत्र विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा में इस विभाग के अनुदेशीय सामग्री केन्द्रं और विभिन्ने कार्यकलापों जैसे संगोष्ठियों, विज्ञान प्रदर्शनियों, विज्ञान उद्यान एवं 'स्कूसल साईंस' नामक पत्रिका के प्रकाशन के माध्य्म से सूचना का प्रचार प्रसार करना है।

यह विभाग मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार को सहयोग एवं सलाह भी देता है और विज्ञान, गणित और पर्यावरणीय शिक्षा से संबंधित मामलों में अपना सहयोग और विशेषज्ञता राष्ट्रीतय शिक्षा संस्थासन के अन्यय विभागों के साथ-साथ एनसीईआरटी के अन्यस संघटकों को भी देता है। यह अपना सहयोग एवं विशेषज्ञता, राज्यय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषदों, विद्यालय शिक्षा के राज्यह बोर्डों और अन्ये राज्यी एजेंसियों को भी पाठ्यचर्या विकास, अध्या्पकीय तैयारी एवं मूल्यांरकन से संबंधित कार्यक्रमों के आयोजन में देता है।

विद्यालयों में विज्ञान एवं गणित शिक्षा को सुदृढ़ बनाने के लिए डीईएसएम के अन्य मुख्यो कार्यकलापों में अध्यातपक अभिमुखीकरण कार्यक्रम, लोकप्रिय विज्ञान सामग्री और नवाचारी प्रयोगशाला परिपाटियों के विकास और प्रचार-प्रसार के साथ ही विज्ञान एवं गणित में विद्यालय से बाहर के कार्यकलापों के आयोजन भी शामिल है। विभाग बच्चोंो के लिए जवाहरलाल नेहरू राष्ट्री य विज्ञान गणित और पर्यावरण शिक्षा प्रदर्शनी का आयोजन करता है जो कि एक वार्षिक कार्यक्रम है। यह जिला, मण्डूल और राज्यी स्तार पर विज्ञान प्रदर्शनियों की एक श्रृंखला की पराकाष्ठा है। डीईएसएम राज्यक स्तदर की प्रदर्शनियों के लिए अकादमिक मार्गदर्शन और वित्तीयय सहायता भी प्रदान करता है।

विभाग ने अपने प्रयासों को जिन क्षेत्रों में केन्द्रित किया है उनका संक्षिप्तष विवरण निम्नईवत् हैं :
1. एकत्रित प्रतिपुष्टि और विज्ञान, गणित, पर्यावरणीय शिक्षा एवं मूल्यांषकन के क्षेत्र में समसामयिक परिवर्तनों पर आधारित विज्ञान एवं गणित में पाठ्यचर्या और पाठ्य सामग्री का विकास।
2. प्रयोगशाला प्रयोगों/कक्षा प्रदर्शनों/छात्र कार्यकलापों के लिए सहायक सामग्री का विकास।
3. पाठ्य संवृद्धि हेतु और लोकप्रिय विषयों/क्षेत्रों/मुख्या विषयों पर मुद्रण एवं मुद्रणेतर दोनों प्रकार की सहायक सामग्री का विकास।
4. मल्टी।-मीडिया पैकेज़ों का विकास ।
5. विज्ञान एवं गणित में अध्या पकों का सेवाकालीन प्रशिक्षण।
6. प्रयोगशाला प्रयोगों एवं कार्यकलापों में मास्ट र प्रशिक्षकों का अभिमुखीकरण।
7. अध्यागपक शिक्षा महाविद्यालयों के संकाय वर्ग का अभिमुखीकरण।
8. बी.एड. कार्यक्रमों हेतु विज्ञान एवं गणित के अध्याअपन पर पाठ्यचर्या का विकास।
9.शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अधीन एक पहल के रूप में उच्च प्राथमिक स्तपर पर पार्श्वी य प्रवेश के लिए विज्ञान एवं गणित में भिन्नी विषयों पर अनुपूरक सामग्री का विकास।
10. विज्ञान एवं गणित में क्रमश: बिना मजबूत आधार वाले अध्या पकों के लिए उच्चश प्राथमिक स्त र पर विज्ञान एवं गणित में प्रशिक्षण पैकेज़ का विकास।
11.विज्ञान, गणित एवं पर्यावरणीय शिक्षा में पाठ्यचर्या विकासकर्त्तापओं का प्रशिक्षण। .
12. सीआईईटी द्वारा ज्ञान दर्शन चैनल पर वीडियो कॉन्फ्रे न्सक (एड्यूसेट के माध्यिम से) और कार्यक्रमों के प्रसारण में अकादमिक सहयोग प्रदान करना।
13. विज्ञान एवं गणित में विद्यालय के बाहर के कार्यकलापों का प्रोत्सानहन और विज्ञान एवं गणित की लोकप्रिय बनाना ।
14. बच्चों के लिए विज्ञान एवं पर्यावरण शिक्षा में राज्या स्तेरीय प्रदर्शनियाँ (एसएलईएसईसी) और बच्चों के लिए जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीवय विज्ञान गणित एवं पर्यावरण शिक्षा प्रदर्शनियों के आयोजन के माध्यएम से और विज्ञान शिक्षा में 'स्कू‍ल साईंस' नामक तिमाही पत्रिका के प्रकाशन के माध्यंम से भी विज्ञान, गणित और पर्यावरण शिक्षा के महत्वा को लोकप्रिय करना।
15. पाठ्यचर्या अभिकल्प्ना, पाठ्यचर्या संचालन, शिक्षण कार्यनीतियाँ एवं उनके प्रभावों से संबंधित अनुसंधान कार्य।
16. आदि प्ररूप अधिगम किटों और कक्षा I और II के लिए गणित में उनके मैनुअॅल्स का विकास।
17. विद्यालयों के लिए पर्यावरणीय शिक्षा पर अनुदेशीय सामग्री का विकास।
18. शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अधीन एक पहल के रूप में उच्च प्राथमिक स्त र पर पार्श्वीवय प्रवेश के लिए विज्ञान एवं गणित में भिन्नी विषयों पर अनुपूरक सामग्री का विकास।
19. राज्यों /संघ राज्यए क्षेत्रों में पर्यावरणीय कार्यक्रमों का मूल्यांशकन।
20. विज्ञान एवं गणित में पाठ्यचर्या, अध्याोपन प्रक्रिया और सतत एवं व्या पक मूल्यां कन (सी सी ई) जैसे पहलुओं पर गुणवत्ताए मापदण्डों और मूल्यां्कन उपकरणों का विकास।